Prerak Prasang Book

Fairy tales in hindi story - परियों वाली कहानी

 परियों की जादुई दुनिया


उसे परियों की कहानी सुनना बहुत पसंद था, लेकिन अब वह 5 साल का हो गया था और उसके घर में एक नन्ही परी यानी उसकी छोटी बहन का जन्म हुआ । 
इस बात की उसे बहुत खुशी थी कि उनकी घर में एक प्यारी सी परी का जन्म हुआ है। वह अपनी बहन को बहुत प्यार करता था लेकिन वह अपने उन पुराने दिनों को भी मिस करता था जब उसकी मां उसे रोज सोने से पहले परियों वाली कहानी सुनाया करती थी, लेकिन अब मां का पूरा ध्यान जैक की बहन पर रहता था जिस कारण वह उसे कहानी नहीं सुना पाती थी । 

Fairy tales in hindi,fairy tales,fairy tales in hindi story

वह रोज रात को सोने से पहले अपनी खिड़की पर बैठकर सोचता काश कोई उसे परियों वाली कहानी सुनाता और कहानी सुनाकर उसे सुलाता। एक रात वह अपने बिस्तर पर लेटा हुआ सोच रहा था, तभी वहां एक बहुत सुंदर परी आई उसे अपनी आंखें आंखों पर विश्वास नहीं हुआ, उस परी के बहुत बड़े बड़े पंख थे और वह उन पंखों से उड़ भी सकती थी । 
उसके हाथ में एक जादू की छड़ी थी और उसने एक बहुत सुंदर ड्रेस पहनी हुई थी। जैक उस परी को देखता ही रह गया उसे तो समझ में ही नहीं आ रहा था कि क्या वह सच में परी है लेकिन फिर उस सुंदर सी परी ने उसको बोला जैक, और उसका हाथ पकड़कर उसको अपने साथ परियों वाली दुनिया में घुमाने के लिए ले गई और वह दोनों साथ में उड़ रहे थे ।
जैक परी के साथ एक बहुत ही सुंदर जगह पहुंच गया था,
जैक ने परी पूछा कि हम कहां हैं, तो परी ने जैक से कहा यह परियों की दुनिया है ।
वहां बहुत सारी परियां थी और बड़े-बड़े सुंदर-सुंदर फूल भी थे, वहां बहुत सारी मिठाईयां और चॉकलेट भी थी जैक को बहुत अच्छा लग रहा था, उसकी तो मानो जैसे दिल की तमन्ना ही पूरी हो गई हो ।
लेकिन तभी जैक की आंखों पर तेज रोशनी पड़ी क्योंकि जैक सपना देख रहा था और सुबह के 8:00 बज गए थे उसकी मां ने खिड़की के परदे खोल दिए तो सूरज की रोशनी जैक की आंखों पर चमक रही थी, तब जैक को पता चला कि वह तो बस एक सपना था ।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां